Economic Survey 2021-22 । आर्थिक समीक्षाः प्रत्येक वर्ष संघीय बजट पेश होने के पहले प्रस्तुत किया जाता है।

पहली बार 2021-22 का बजट संसद में डिजिटल में पेश किया गया है। इससे पूर्व पेपर में पेश किया जाता था।

Economic Survey 2021-22

आर्थिक सर्वेक्षण 2021-22

  • आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 के प्रमुख्य बिन्दु
  • इतिहास
  • क्या ख़बर
  • आर्थिक समीक्षा कौन तैयार करता है।
  • चुनौतियाँ आगे की राह
  • प्रश्न

1. Economic Survey 2020-21 (आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21) के प्रमुख्य बिन्दु

  • सर्वे दो खण्डों में प्रस्तुत किया जाता है।
  • कोरोना योद्धाओ को समर्पित किया गया।
  • अर्थव्यवस्था में V-शेप आर्थिक रिकवरी थी V-शेप आर्थिक रिकवरी को मैगा-टीकाकरण अभियान का समर्थन विशेषकर सेवा क्षेत्र हुतु था।
  • महामारी से सम्पर्क आधारित सेवाएं और मैन्यूफैक्चरिंग एवं कंस्ट्रक्शन क्षेत्र सबसे ज्यादा प्रभावित रहा।
  • कृषि अभी भी महत्वपूर्ण क्षेत्र रहा, जिसमें 3.4% की वृद्धि देखी गयी।
  • उद्योग और सेवा क्षेत्र में क्रमशः 9.6% और 8.8% की गिरावट देखी गयी।
  • वित्त वर्ष 2020-21 में अन्मानित जीडीपी 7.7% की गिरावट या संकुचन देखा गया।
  • वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए देश की वास्तविक जीडीपी में 11% की वृद्धि का अनुमान लगाया गया। वही नॉमिनल जीडीपी में 15.41% की वृद्धि की अनमान है।
  • सेवा क्षेत्र में सालाना आधार पर FDI प्रवाह 34% बढ़ोतरी के साथ 23.6 अरब डॉलर के स्तर पर पहुंचने का अनुमान है।
  • भारत का वाणिज्य वस्तु व्यापार घाटा कम हुआ, चीन और अमेरिका के साथ भारत के वाणिज्य व्यापार संतुलन में सुधार आया।
  • विदेशी विनिमय भण्डार बढ़कर अब तक का सर्वाधिक 586.1 अरब अमेरिकी डॉलर के पार पहुंच गया है।
  • विदेशी ऋण में 2.0 अरब अमेरिकी डॉलर की कमी आयी है।
  • वित्तीय वर्ष 2021 के लिए चालू खाता अधिशेष में 2% की संभावित वृद्धि 17 साल में पहली बार अधिकतम रहा। IMF के अनुसार, भारत के 2 वर्षो में सबसे तेजी स बढ़ती अर्थव्यवस्था होने का अनुमान लगाया है।
  • विकास रणनीति का मुख्य केन्द्र सतत विकास इस हेतु पर्याप्त आर्थिक आर्थिक समर्थन और व्यापक आर्थिक सुधार जरूर है।
  • निजी क्षेत्र द्वारा नवोन्मेष पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है।
  • अनुुसंधान औऱ विकास में व्यावसायिक क्षेत्र का योगदान बढ़कर 50% से अधिक करने का आह्वान किया गया है।
  • देश में वर्ष 2050 तक अनुमानित यातायात की जरूरतों की पूर्ति हेतु रेलवे द्वारा राष्ट्रीय रेल योजना मसौदा लॉन्च किया।
Economic Survey 2021-22

2.इतिहास

  • पहला आर्थिक सर्वेक्षण (Economic Survey – 1950-51 में पेश किया गया।
  • 1964 तक इसे बजट के साथ पेश किया जाता है।
  • 1964 के बाद बजट पेश करने के एक दिन पहले पेश किया जाने लगा।
  • दूसरे खण्ड मं अर्थव्यवस्था के सभी प्रमुख क्षेत्रों का विस्तरित समीक्षा की जाती है। आर्थिक समीक्षा के साथ-साथ सामाजिक पहलू पर भी ध्यान दिया जाता है।
  • आर्थिक समीक्षा भविष्य में बनाये गये नीतियों के लिए एक आधार का काम करता है।

3. आर्थिक समीक्षा कौन तैयार करता है?

  • सरकार द्वारा पिछले एक साल में अर्थव्यवस्था की स्थिति पर प्रस्तुत एक रिपोर्ट है। जो प्रमुख आर्थिक चुनौतियाों का अनुमान लगाती है और उनके सभावित समाधान प्रस्तुत करती है।
  • केन्दीय बजट पेश होने से एक दिन पहले जारी किया जाता है।
  • आर्थिक मामलों के विभाग (DEA) के आर्थिक प्रभाग द्वारा मुख्य आर्थिक सलाहकार की अध्यक्षता में तैयार किया जाता है। बजट तैयार होने के बाद वित्तमंत्री द्वारा अनुमोदित किया जाता है।
  • भारत के वर्तमान मुख्य आर्थिक सलाहकर डॉक्टर कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यन है।

4. क्यों महत्वपूर्ण है?

  • देश की आर्थिक स्थिति पर सरकार के कदमें का एक विस्तृत आधिकारिक संस्करण प्रस्तुत किया जाता है।
  • सरकार द्वारा देश की समस्याओं से निपटने की दिशा में किये जा रहे प्रयासे को बताता है।
  • सरकार प्रमुख विकास कार्यक्रमों और नीतिगत पहलो को उजागर करता है।

5. चुनौतियाँ

  • महामारी और लॉकडाउन
  • प्रमुक क्षेत्रों को मिलने वाले बैंक ऋणों की उपलब्धता ।
  • खाद्य वस्तुओं की बढ़ती कीमतें तथा बढ़ती महँगाई।
Economic Survey 2021-22
Economic Survey 2021-22

6. आगे की राह

  • अवसरचनात्मक निवेश की आवश्यता डिजिटलकरण को बढ़ावा देना।
  • नियार्त को प्रोत्साहन को बढ़ाना।
  • आत्मनिर्भर भारत अभियान को बढ़ावा देना।
  • स्वास्थ्य क्षेत्र हेतु आयुष्मान भारत व राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के बीच सामंजस्य की बात की गयी जिससे दोनों मिलकर एक साथ काम करे।

7. प्रश्न

आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 के प्रमुश बिन्दुओं की चर्चा करते हुए बीते एक साल में भारतीय अर्थव्यवस्था की सेहत पर एक टिप्पणी कीजिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like